550वें प्रकाशोत्सव पर्व पर निष्काम ने वरताया अटूट लंगर

भूखों का पेट भरने के लिए लंगर की शुरुआत श्री गुरु नानक देव जी ने की थी - जसमीत सिंह


मोदीनगर (अनवर ख़ान)। सामाजिक सेवाओं के लिए हर समय तत्पर सामाजिक संस्था निष्काम सेवक जत्थे द्वारा क्षेत्र की विभिन्न मलिन बस्तियों में जाकर वहां निवास करने वाले निर्धनों को अटूट लंगर वरता कर सिखों के प्रथम गुरु श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाश पर्व बड़ी ही आस्था और श्रद्धा के साथ मनाया गया। लंगर छक कर बस्ती वासियों ने संस्था का आभार प्रकट करते हुए उन्हें प्रकाश पर्व की बधाई भी दी।
       मंगलवार को श्री गुरु नानक देव जी का 550वां प्रकाश पर्व सिख समुदाय द्वारा श्रद्धापूर्वक एवं बड़े ही धूमधाम के साथ मनाया गया। प्रकाश पर्व जहां नगर के दो मुख्य गुरुद्वारों गोविंदपुरी स्थित गुरु सिंह सभा गुरुद्वारा तथा गुरुद्वारा रोड स्थित गुरुद्वारा गुरु सिंह सभा के गुरु दरबार में शबद कीर्तन तथा गुरु नानक देव जी की जीवनी पर प्रकाश डालते हुए मनाया गया। वहीं सरदार जसमीत सिंह द्वारा संचालित प्रमुख सामाजिक संस्था निष्काम सेवक जत्थे द्वारा भी प्रकाशपर्व पर क्षेत्र में विभिन्न स्थानों लंकापुरी, जगतपुरी, गदाना, विश्वकर्मा बस्ती, सुदामापुरी, सीकरी कलां, रेलवे स्टेशन आदि पर स्थित मलिन बस्तियों में निवास करने वाले निर्धनों को अटूट लंगर का वितरण किया गया। लंगर वरताने की शुरुआत उप जिलाधिकारी सौम्या पांडे तथा वरिष्ठ समाजसेवी शिक्षाविद चानन लाल ढींगरा द्वारा की गई। जिसके बाद संस्था के पदाधिकारियों ने मलिन बस्ती वासियों को बड़ी ही श्रद्धाभाव के साथ लंगर परोसा। सरदार जसमीत सिंह ने कहा कि भूखों का पेट भरने के लिए लंगर की शुरुआत श्री गुरु नानक देव जी ने ही की थी इसलिए उनके नक्शे क़दम पर चलते हुए उनकी संस्था ने गरीबों और भूखों को लंगर का वितरण किया है।
       इस मौके पर निष्काम धर्म प्रचार कमेटी के प्रधान अरविंद सिंह, मंजीत बिन्द्रा, हरप्रीत सिंह, जितेन्द्र सिंह, जसपाल आहुजा, जसदीप सिंह, धीरज कालरा, अनुप्रीत कौर, लवली, सचिन चचड़ा, अंशुल भसीन, जगमोहन सिंह, रविन्द्र सिंह, पंकज चोपङा, चिराग कालरा, विक्रमजीत सिंह, नवदीप सिंह, हरसिमर सिंह, आशीष मेंहदीरत्ता, सतिन्दर कौर, चरनजीत कौर, मंजीत कौर, ज्योति चचड़ा, मोहित, गौरव आदि शामिल थे।


 



 


Popular posts