गदाना वासियों ने ग्राम प्रधान पर लगाए विकास कार्यों में लापरवाही बरतने के आरोप

मोदीनगर (अनवर ख़ान)। तहसील क्षेत्र के गांव औरंगाबाद गदाना वासियों ने तहसील मुख्यालय पर आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस में ज्ञापन सौंपते हुए ग्राम प्रधान पर विकास कार्यो में लापरवाही बरतने के आरोप लगाए हैं। ज्ञापन में ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान पर भ्रष्टाचार किए जाने का आरोप लगाते हुए जांच किए जाने की मांग भी की है।
      मंगलवार को गांव औरंगाबाद गदाना के दर्जनों ग्रामीण तहसील मुख्यालय में आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस पर पहुंचे और जिलाधिकारी को संबोधित एक ज्ञापन तहसीलदार उमाकांत तिवारी को सौंपा। ग्रामीणों ने तहसीलदार को अवगत कराते हुए कहा कि गांव में पानी की टंकी के समीप स्थित रास्ता टूटा फूटा पड़ा है, साथ ही वहां टूटी पड़ी नालियों के चलते बरसात के अलावा आम दिनों में भी जलभराव की समस्या पैदा हो जाती है। ग्रामीणों का आरोप है कि उनके द्वारा कई बार वहां रास्ता तथा नाली निर्माण की गुहार लगाए जाने के बाद भी ग्राम प्रधान संतोख सिंह ने अभी तक भी वहां पर रास्ता तथा नाली निर्माण नहीं कराया है। बल्कि ग्राम प्रधान संतोख सिंह कोई ना कोई बहाना बनाकर ग्रामीणों को टरकाते रहते हैं। ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए तहसीलदार से कहा कि ग्राम प्रधान गौशाला निर्माण की बात तो करते हैं किंतु क्षेत्र की सभी गाय तथा गौवंश सड़को पर खुलेआम घूम रहे हैं जिनसे दुर्घटना होने की आशंका बनी रहती है। दोनों ने सवाल उठाया कि यदि ग्राम प्रधान द्वारा गौशाला बनवाई गई है तो फिर यह गौवंश आवारा क्यों घूम रहे हैं। ग्रामीणों ने ज्ञापन के जरिए गांव में समुचित विकास कार्य कराए जाने तथा ग्राम प्रधान के द्वारा कराए गए कार्यों की निष्पक्ष जांच किए जाने की मांग की है।
       ज्ञापन सौंपने वालों में ओमप्रकाश शर्मा, अभिषेक विक्रांत शर्मा, विजय कुमार, प्रभांश शर्मा, सतीश कुमार, योगेंद्र कुमार, रवि, श्याम सिंह, लक्ष्मी शर्मा, रुचि, आरके शर्मा, मुकेश शर्मा, बबीता, अंकुर त्यागी प्रवेश सैनी, श्रीकांत शर्मा, बाबू, विकास, संदीप, हरेंद्र, दिनेश, मोहित, राकेश समेत दर्जनों ग्रामीण शामिल थे।


Popular posts