एड अरुण राघव ने पीएम को पत्र प्रेषित कर की तीस हजारी कोर्ट मामले की कड़ी निंदा

दोषी पुलिसकर्मियों को दंड देने तथा घायल अधिवक्ताओं की समुचित चिकित्सा दिलाए जाने के लिए की मांग


मोदीनगर (अनवर ख़ान)। उत्तर प्रदेश कर अधिवक्ता संगठन के प्रांतीय कार्यकारिणी सदस्य वरिष्ठ कर अधिवक्ता एड अरुण राघव ने प्रधानमंत्री को पत्र प्रेषित कर गत् शनिवार को दिल्ली स्थित तीस हजारी कोर्ट में अधिवक्ताओं पर लाठीचार्ज तथा फायरिंग करने के दोषी पुलिसकर्मियों सुसंगत धाराओं में दण्ड देने एवं घायल अधिवक्ताओं को समुचित चिकित्सा व्यवस्था सुनिश्चित कराए जाने की मांग की है।
         पत्र में कहा गया है कि गत शनिवार को दिल्ली पुलिस द्वारा अधिवक्ताओं पर की गई बर्बरतापूर्ण कार्यवाही की उत्तर प्रदेश कर अधिवक्ता संगठन कड़ी निन्दा करता है। पत्र में मांग की गई है कि इस अमानवीय घटना का गंभीरतापूर्वक संज्ञान लेकर दोषी पुलिसकर्मियो के विरूद्ध कड़ी से कड़ी कार्यवाही करने हेतु निर्देश जारी करें तथा पुलिस द्वारा की गई लाठीचार्ज व फायरिंग में घायल अधिवक्ताओं की समुचित चिकित्सा व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। पत्र के माध्यम से संगठन द्वारा यह भी मांग की गई है कि पूरे देश के अधिवक्ताओं की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए पूरे देश मे एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट लागू किया जाए।   
       पत्र में यह भी कहा गया है कि घटना के विरोध में प्रदेश के सभी अधिवक्ता संघ गत् सोमवार को न्यायिक कार्यो से विरत रहे थे, अब आगामी आठ नवंबर को भी बार काउंसिल ऑफ उत्तर प्रदेश के आह्वान पर प्रान्त के समस्त अधिवक्ता संघ हडताल पर रहेंगे।


Popular posts