संस्कृत शोभायात्रा निकालकर मनाया संस्कृत

मोदीनगर (अनवर ख़ान)।‌ संस्कृत सप्ताह के अवसर पर संस्कृत भारती संगठन द्वारा गोविन्दपुरी स्थित सनातन धर्म मन्दिर में संस्कृत बोध उत्सव कार्यक्रम का आयोजन किया गया धूमधाम से किया गया। संस्था द्वारा संस्कृत के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से क्षेत्र में संस्कृत शोभायात्रा भी निकाली गई।
       कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि संस्था के मेरठ प्रान्त शिक्षण प्रमुख और उप्र माध्यमिक संस्कृत शिक्षा परिषद के सदस्य कुशल देव द्वारा मां सरस्वती के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित कर किया गया। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि संस्कृत भाषा इस धरती पर बोली जाने वाली सभी भाषाओं में सबसे शुद्ध और स्पष्ट भाषा है। अन्य सभी भाषाएं भी संस्कृत से ही निकली हैं। अतः हम सभी को भी संस्कृत भाषा अवश्य सीखनी चाहिए। संस्था के जिलाप्रचारक विवेक कौशिक ने संस्कृत भाषा की अनिवार्यता पर जोर देते हुए  कहा कि विश्व के 39 देशों में आठवीं कक्षा तक संस्कृत भाषा को पढ़ना अनिवार्य है। किंतु भारतवर्ष में संस्कृत की उपेक्षा हम सभी के लिए चिंताजनक है। हमारे देश में संस्कृत भाषा को वह स्थान नहीं मिला जो आज अंग्रेजी और हिंदी भाषा को मिला हुआ है। अंग्रेजी शासन से आजाद होने के बाद भी हम आज भी अंग्रेजी भाषा के जरिए अंग्रेजों के गुलाम हैं। हमें हमारी पीढ़ी को सभी भाषाओं के साथ-साथ संस्कृत भाषा को भी सीखने के लिए प्रेरित करना चाहिए। कार्यक्रम के उपरांत संस्कृत शोभायात्रा निकाली गई जो सनातन मंदिर से प्रारंभ होकर गोविंदपुरी होते हुए आर्य समाज मंदिर पर आकर समाप्त हुई।
       इस अवसर पर गोपाल कौशिक, आकाश शर्मा, उदय चन्द्र झा, गुलवीर सिंह, वर्षा चौधरी, अनिता नेहरा, जगमाल सिंह, संजीव ठाकुर, राहुल शास्त्री, दीपिका शर्मा, खुशी त्यागी, मनीष कुमार मिश्र, कीर्ति, उमा पा


Popular posts